भारतीय एथलीट्स की उपलब्धि पर बेल्जियम के कमेंट से खफा हुआ हॉकी इंडिया, उठाया बड़ा कदम


Hockey India Latest News: अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (FIH) के सालाना पुरस्कारों में इस बार भारतीय एथलीट्स का दबदबा रहा. इससे बौखलाए बेल्जियम फेडरेशन ने इस पर सवाल उठाना शुरू कर दिए. हॉकी इंडिया (Hockey India) बेल्जियम के इस रवैये से बेहद खफा है. हॉकी इंडिया ने दावा किया कि भारतीय खिलाड़ियों के एफआईएच (FIH) के सालाना पुरस्कारों में सभी पुरस्कार जीतने पर बेल्जियम की सार्वजनिक नाराजगी किसी ‘नस्लीय भेदभाव’ से कम नहीं है. हॉकी इंडिया ने कहा कि इस मामले पर वैश्विक संस्था को इस मामले पर जांच शुरू करनी चाहिए. 

अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (FIH) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी थिएरी वेल को कड़े शब्दों में लिखे गए पत्र में हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोम्बाम ने कहा कि बेल्जियम और उसके खिलाड़ियों का मतदान प्रणाली पर सवाल उठाकर भारतीय पुरस्कार विजेताओं का अपमान करना और उनकी उपलब्धियों को नीचा दिखाना था. निंगोम्बाम ने पत्र में लिखा, “भारतीय विजेताओं की घोषणा पर नाराजगी के सार्वजनिक बयान बेहद अपमानजनक हैं और यह हॉकी खेल और खेल भावना के अंतर्गत नहीं है.”

उन्होंने लिखा, “बेल्जियम महासंघ की ओर से 2021 विजेताओं पर उठायी गयी आपत्तियों की एफआईएच संचालन पैनल द्वारा सावधानीपूवर्क जांच की जरूरत है, जिसे मैं भेदभाव/नस्लीय भेदभाव के रूप में देखता हूं.” गौरतलब है कि इस बार एफआईएच के सालाना पुरस्कारों में भारतीय एथलीट्स का दबदबा रहा और उन्होंने सभी पुरस्कार जीतकर सभी को हैरान कर दिया. इसको लेकर बेल्जियम ने सवाल उठाकर मामले को तूल दे दी. अब इस पर हॉकी इंडिया ने पलटवार करते हुए वैश्विक संस्था से मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है. 

यह भी पढ़ेंः Hima Das COVID-19 Positive: स्टार एथलीट हिमा दास को हुआ कोरोना, ट्रेनिंग के लिए पहुंची थीं पटियाला

BCCI ने टी20 विश्व कप टीम में किया बदलाव, अक्षर पटेल की जगह इस खिलाड़ी की हुई टीम में एंट्री



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: